Hanuman Chalisa Lyrics in Hindi हनुमान चालीसा हिंदी लिरिक्स

Hanuman Chalisa Hindi

इस अंक में पाईये हनुमान चालीसा हिंदी लिरिक्स (Hanuman Chalisa Hindi Lyrics) HD फोटो के साथ.

साथ ही इस अंक में हम लोग चर्चा करेंगे हनुमान चालीसा के पाठ करने की विधि के बारे में जिससे हनुमान जी हमें संकटों और दुष्ट नकारात्मक शक्तियों से, रक्षा करें.

हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) का पाठ हमारे लिए इस घोर कलयुग में किसी वरदान से कम नहीं है. सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति के साथ रोजाना हनुमान चालीसा का पाठ अवस्य करें.

Hanuman Chalisa Hindi Lyrics

Hanuman Chalisa Hindi Lyrics

|| हनुमान चालीसा ||

Hanuman Chalisa Lyrics

|| दोहा ||

श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुरु सुधारि |
बरनऊँ रघुवर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि ||

बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरो पवन-कुमार |
बल बुद्धि विद्या देहु मोहिं, हरहु कलेश विकार ||

|| चौपाई ||

जय हनुमान ज्ञान गुण सागर,
जय कपीस तिहुँ लोक उजागर॥1॥

राम दूत अतुलित बलधामा,
अंजनी पुत्र पवन सुत नामा॥2॥

महावीर विक्रम बजरंगी,
कुमति निवार सुमति के संगी॥3॥

कंचन बरन बिराज सुबेसा,
कानन कुण्डल कुंचित केसा॥4॥

हाथ ब्रज और ध्वजा विराजे,
काँधे मूँज जनेऊ साजै॥5॥

शंकर सुवन केसरी नंदन,
तेज प्रताप महा जग वंदन॥6॥

विद्यावान गुणी अति चातुर,
राम काज करिबे को आतुर॥7॥

प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया,
राम लखन सीता मन बसिया॥8॥

सूक्ष्म रूप धरि सियहिं दिखावा,
बिकट रूप धरि लंक जरावा॥9॥

भीम रूप धरि असुर संहारे,
रामचन्द्र के काज संवारे॥10॥

लाय सजीवन लखन जियाये,
श्री रघुवीर हरषि उर लाये॥11॥

रघुपति कीन्हीं बहुत बड़ाई,
तुम मम प्रिय भरत सम भाई॥12॥

सहस बदन तुम्हरो जस गावैं,
अस कहि श्री पति कंठ लगावैं॥13॥

सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा,
नारद, सारद सहित अहीसा॥14॥

जम कुबेर दिगपाल जहाँ ते,
कबि कोबिद कहि सके कहाँ ते॥15॥

तुम उपकार सुग्रीवहि कीन्हा,
राम मिलाय राजपद दीन्हा॥16॥

तुम्हरो मंत्र विभीषण माना,
लंकेस्वर भए सब जग जाना॥17॥

जुग सहस्त्र जोजन पर भानू,
लील्यो ताहि मधुर फल जानू॥18॥

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माहि,
जलधि लांघि गये अचरज नाहीं॥19॥

दुर्गम काज जगत के जेते,
सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते॥20॥

Shri Hanuman Chalisa Lyrics in Hindi Font

Shri Hanuman Chalisa Lyrics in Hindi Font

राम दुआरे तुम रखवारे,
होत न आज्ञा बिनु पैसारे ॥21॥

सब सुख लहै तुम्हारी सरना,
तुम रक्षक काहू को डरना ॥22॥

आपन तेज सम्हारो आपै,
तीनों लोक हाँक ते काँपै॥23॥

भूत पिशाच निकट नहिं आवै,
महावीर जब नाम सुनावै॥24॥

नासै रोग हरै सब पीरा,
जपत निरंतर हनुमत बीरा ॥25॥

संकट तें हनुमान छुड़ावै,
मन क्रम बचन ध्यान जो लावै॥26॥

सब पर राम तपस्वी राजा,
तिनके काज सकल तुम साजा॥27॥

और मनोरथ जो कोइ लावै,
सोई अमित जीवन फल पावै॥28॥

चारों जुग परताप तुम्हारा,
है परसिद्ध जगत उजियारा॥ 29॥

साधु सन्त के तुम रखवारे,
असुर निकंदन राम दुलारे॥30॥

अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता,
अस बर दीन जानकी माता॥31॥

राम रसायन तुम्हरे पासा,
सदा रहो रघुपति के दासा॥32॥

तुम्हरे भजन राम को पावै,
जनम जनम के दुख बिसरावै॥33॥

अन्त काल रघुबर पुर जाई,
जहाँ जन्म हरि भक्त कहाई॥ 34॥

और देवता चित न धरई,
हनुमत सेई सर्व सुख करई॥35॥

संकट कटै मिटै सब पीरा,
जो सुमिरै हनुमत बलबीरा॥36॥

जय जय जय हनुमान गोसाईं,
कृपा करहु गुरु देव की नाई॥37॥

जो सत बार पाठ कर कोई,
छुटहि बँदि महा सुख होई॥38॥

जो यह पढ़ै हनुमान चालीसा,
होय सिद्धि साखी गौरीसा॥ 39॥

तुलसीदास सदा हरि चेरा,
कीजै नाथ हृदय मँह डेरा॥40॥

|| दोहा ||

पवन तनय संकट हरन, मंगल मूरति रूप।
राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुरभुप॥

|| सिया वर राम चन्द्र की जय, पवनसुत हनुमान की जय ||

हनुमान चालीसा पाठ की विधि

Jai Hanuman

रोजाना अगर हनुमान चालीसा का पाठ किया जाए तो यह सर्वोत्तम होता है.

अगर रोजाना संभव नहीं हो तो कम से कम मंगलवार को हनुमान चालीसा का पाठ अवस्य करें.

हनुमान चालीसा का पाठ मंगलवार, सनिवार, हनुमान जयंती, राम नवमी, नवरात्री आदि के दिनों में करना बहुत ही शुभ माना गया है.

प्रातः काल और सायंकाल में हनुमान चालीसा का पाठ करना शुभ होता है.

हनुमान जी के मंदिर में जाकर हनुमान चालीसा का पाठ करना उत्तम माना गया है.

पूजा घर में हनुमान जी की मूर्ती या तस्वीर के सामने बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ करना शुभ माना गया है.

सम्पूर्ण रूप से शुद्ध होकर हनुमान चालीसा का पाठ करें.

हनुमान चालीसा के पाठ के उपरान्त हनुमान जी की आरती करें.

Importance of Hanuman Chalisa

Importance of Hanuman Chalisa

हनुमान चालीसा का महत्व

1.) हनुमान चालीसा हनुमान जी की कृपा पाने का सबसे महत्वपूर्ण साधन है.

2.) हनुमान चालीसा का पाठ इस कलयुग में मनुष्य के लिए एक वरदान है.

3.) भय से मुक्ति पाने के लिए हनुमान चालीसा का पाठ सबसे अच्छा माध्यम माना गया है.

4.) हनुमान चालीसा का पाठ करना बहुत आसान और सुगम है.

5.) मनुष्य की रक्षा के लिए हनुमान चालीसा एक कवच का काम करता है.

6.) हनुमान चालीसा के पाठ से सकारात्मक उर्जा प्रवाहित होने लगती है. नकारात्मक शक्तियाँ गायब हो जाती हैं.

Benefits of Hanuman Chalisa

Benefits From Hanuman Chalisa Path

हनुमान चालीसा के पाठ से मनुष्य को हनुमान जी की परम कृपा की प्राप्ति होती है.

नकारात्मक शक्तियों से रक्षा हनुमान चालीसा के पाठ करने से होती है.

भय से मुक्ति हनुमान चालीसा के नियमित पाठ करने से मिलती है.

आत्मबिस्वास में बृद्धि हनुमान चालीसा के पाठ करने से होती है.

संकटों से रक्षा हनुमान जी करते हैं.

रोगों और कष्टों से मुक्ति मिलती है.

Hanuman Chalisa Hindi Lyrics PDF Download

Hanuman Chalisa Hindi Lyrics PDF Download

To download Hanuman Chalisa Hindi Lyrics PDF click the link below to go downloading page.

हनुमान चालीसा हिंदी लिरिक्स पीडीऍफ़ डाउनलोड

हनुमान चालीसा को पीडीऍफ़ में डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें. इससे आप डाउनलोड page पर पहुँच जायेंगे. जहाँ से आप इसे डाउनलोड कर पायेंगे.

निवेदन

हमने हनुमान चालीसा के प्रकाशन में सम्पूर्ण सावधानी रखी है. फिर भी अगर कहीं कोई त्रुटी है. आप इस पोस्ट में कोई सुधार करवाना चाहतें हैं. तो हमें ईमेल पर कांटेक्ट कर सकतें हैं. हमारा ईमेल आपको कांटेक्ट उस page पर मिल जायेगा.

महावीर हनुमान जी पर अपनी सम्पूर्ण श्रद्धा और भक्ति रखें.

हनुमान जी आपकी सभी प्रकार के संकटों से रक्षा करें.

|| जय हनुमान | Jai Hanuman ||

Know more about Hanuman Ji

Read Hanuman Chalisa in Another Language

Leave a comment

Scroll back to top